देसीटून्ज़

अप्रैल 30, 2007

आईएएस अफ़सर की लालसा

Filed under: आदम और हव्वा... — raviratlami @ 6:24 पूर्वाह्न

आदम और हव्वा… 

ias-hindi.jpg

जितना बड़ा अफ़सर  उतनी ही बड़ी लिप्सा

Advertisements

4 टिप्पणियाँ »

  1. नही भाई अब यहा टिपिया कर भारत सरकार अफ़सरो से पंगो नही

    टिप्पणी द्वारा अरुण — अप्रैल 30, 2007 @ 8:30 पूर्वाह्न

  2. हुम्म्म्

    टिप्पणी द्वारा dhurvirodhi — अप्रैल 30, 2007 @ 11:30 पूर्वाह्न

  3. मेरे एक मित्र की गज़ल का एक शेर है:

    बीबियाँ माध्यम बनी जिनके प्रमोशन की
    उन अफसरोँ के पद नही हम ‘वंश’ देखेंगे.

    देसी टूंस की पैनी नज़र है, बनाये रखेँ.

    अरविन्द चतुर्वेदी

    टिप्पणी द्वारा Arvind Chaturvedi — अप्रैल 30, 2007 @ 12:02 अपराह्न

  4. 🙂

    टिप्पणी द्वारा श्रीश शर्मा 'ई-पंडित' — अप्रैल 30, 2007 @ 10:41 अपराह्न


RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

वर्डप्रेस (WordPress.com) पर एक स्वतंत्र वेबसाइट या ब्लॉग बनाएँ .

%d bloggers like this: