देसीटून्ज़

अप्रैल 12, 2007

सीमाएं लांघने की सीमा

Filed under: आदम और हव्वा... — raviratlami @ 5:19 अपराह्न

हव्वा और हव्वा की सहेली…

crossing-limit.jpg

सर्वत्र उल्लंघन होती हुई सरकारी सीमाएँ …

Advertisements

2 टिप्पणियाँ »

  1. आप ये भी लिख सकते हैं “वो हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है, अधिकारों में अतिक्रमण बर्दाश्त नही किया जायेगा” 😉

    टिप्पणी द्वारा Tarun — अप्रैल 12, 2007 @ 11:46 अपराह्न

  2. 🙂

    टिप्पणी द्वारा संजय बेंगाणी — अप्रैल 13, 2007 @ 4:28 पूर्वाह्न


RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

वर्डप्रेस (WordPress.com) पर एक स्वतंत्र वेबसाइट या ब्लॉग बनाएँ .

%d bloggers like this: