देसीटून्ज़

दिसम्बर 16, 2006

अब बजी घंटी!

Filed under: रूपहला सच — Debashish @ 4:46 अपराह्न

sanjay-circuit-gandhigiri.jpg

Advertisements

6 टिप्पणियाँ »

  1. हा हा हा… सही है 🙂

    टिप्पणी द्वारा Pratik Pandey — दिसम्बर 16, 2006 @ 7:00 अपराह्न

  2. हा हा, गांधीगिरी कोई जमानत का आदेश थोडे ही है 🙂

    टिप्पणी द्वारा समीर लाल — दिसम्बर 16, 2006 @ 11:25 अपराह्न

  3. बहुत अच्छे!

    टिप्पणी द्वारा अनूप शुक्ला — दिसम्बर 17, 2006 @ 3:48 पूर्वाह्न

  4. सही है. 🙂

    टिप्पणी द्वारा संजय बेंगाणी — दिसम्बर 17, 2006 @ 4:29 पूर्वाह्न

  5. यह भी खूब रही।:)

    टिप्पणी द्वारा जगदीश भाटिया — दिसम्बर 17, 2006 @ 11:09 पूर्वाह्न

  6. हा-हा ! मजा आ गया। एकदम सटीक व्यंग्य है। 🙂

    टिप्पणी द्वारा Shrish — दिसम्बर 23, 2006 @ 10:55 पूर्वाह्न


RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

WordPress.com पर ब्लॉग.

%d bloggers like this: